[आवेदन पत्र] उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना पंजीकरण फॉर्म

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना: उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा मजदूर वर्ग के लिए 1000 मजदूरी भत्ता देने का फैसला किया है| उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता योजना के तहत प्रदेश में दिहाड़ी मजदूर रिक्शा चलाने वाले खोमचे वाले रेडी वाले फ्री वाले निर्माण कार्य करने वालों को यह बता प्रदान किया जाएगा । करोना वायरस के कारण पूरा जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है| उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा 20.37 लाख मजदूरों को इन दिनों की आम जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रति व्यक्ति 1000 भत्ता प्रदान किया जाएगा|

मुख्यमंत्री श्री आदित्य योगी नाथ जी का कहना है कि उत्तर प्रदेश राज्य में कुल 1500000 मजदूर पंजीकृत है और इन मजदूरों को राज्य सरकार द्वारा 1000 वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी| ताकि वह इस दिक्कत के समय में अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा कर सके और एक अच्छा जीवन व्यतीत कर सकें यह तो हम सभी जानते हैं कि मजदूरों का आय का स्त्रोत बंद हो चुके हैं और उन्हें कहीं से भी राहत की उम्मीद नहीं मिल रही है| इसी के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा यह कदम उठाए गए हैं| आज हम आपको इस लेख के माध्यम से मजदूर भट्टा योजना से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता के प्रमुख बिंदु

योजना का नाम मजदूर भत्ता योजना
शुरू की गई योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू
शुरू की तिथि 21 मार्च 2020
लाभार्थी राज्य का मजदूर वर्ग
राज्य उत्तर प्रदेश
उद्देश्य राज्य के मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान करना
लाभार्थी राशि 1000{APPLY NOW}
विभाग उत्तर प्रदेश श्रम विभाग


मजदूर भत्ता योजना के प्रमुख उद्देश्य

  • दिक्कत के इस समय में मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है सरकार का प्रमुख उद्देश्य है।
  • पूरे देश में करोना वायरस के कारण हाहाकार मचा हुआ है मजदूर वर्ग इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहा है उन्हें अपनी रोजी रोटी के लिए बहुत ही मुश्किलें पैदा हो गई हैं। लोग इसे काफी अधिक प्रभावित हुए हैं तथा डरे हुए हैं जिससे भी अपने कामों पर भी नहीं जा रहे हैं साथ ही सरकार द्वारा लगाई गई पाबंदी के कारण भी उन्हें दिक्कतें आ रहे हैं जिससे घर पर रहने के कारण उन्हें कहीं से भी रोजी रोटी का प्रबंध नहीं हो पा रहा है इसी के मद्देनजर सरकार ने उन्हें 1000 आर्थिक सहायता देने का फैसला किया है।
  • यह तो हम सभी जानते हैं कि करोना वायरस की वजह से देश में मंदी के आसार साफ नजर आ रहे हैं इस समस्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा मजदूर वर्ग को सहायता प्रदान की जा रही है ताकि मजदूर तथा उसके परिवार को किसी प्रकार की कोई भी कठिनाई का सामना ना करना पड़े और अपने घरों पर रहकर अपना भरण-पोषण कर सकें|

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना
उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना

उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा श्रम विभाग के मजदूरों को 1000 मजदूरी भत्ता तथा आर्थिक सहायता देने का फैसला किया है यह सहायता मजदूरों को एक ही बार दी जाएगी| नगर विकास ने 16 लाख दिहाड़ी सफाई कर्मचारी, 49000 ग्राम पंचायतों में 20- 20 मजदूर लिए जाएंगे और उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा| इस योजना के तहत दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डाले जाएगी वहां से वे आसानी से इसे प्राप्त कर सकते हैं| राज्य सरकार द्वारा मजदूर भत्ता योजना के तहत मजदूर, रिक्शा चलाने वाले, खोमचे वाले रेडी वाले फ्री वाले रिक्शा चलाने वालों को खाते में डीवीडी के माध्यम से 1000 की धनराशि वितरित की जाएगी । राज्य सरकार द्वारा राज्य के कुल 35 लाख मजदूर लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में डीवीटी के माध्यम से आजीविका तथा वित्तीय सहायता ट्रांसफर की जाएगी योगी आदित्यनाथ जी द्वारा प्रत्येक 4 श्रमिकों को 1000 के प्रतीकात्मक चेक वितरित करेंगे|

Application Form: Click here

मजदूर बता बता योजना के प्रमुख लाभ

गरीब लोग- मजदूर योजना के अंतर्गत गरीब लोग जो कि देश में दिहाड़ी मजदूरी उस श्रमिक वर्ग जैसे कि रिक्शा चलाने वाले खोमचे चलाने वाले रेडी वाले फ्री वाले निर्माण कार्य करने वाले जो लोग हैं| उन्हें उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा आर्थिक मदद की जाएगी।

आर्थिक सहायता – करोना वायरस की वजह से प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरा देश अस्त-व्यस्त हो चुका प्राइवेट तथा सरकारी काम जो इस समय अनावश्यक है| वह सरकार द्वारा पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं इससे गरीब जनता को बहुत अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है| घर पर रहने के कारण उन्हें कोई भी आएगा सतरूर नहीं है इसी कारण सरकार द्वारा उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है यह आर्थिक सहायता ₹1000 प्रत्येक मजदूर वर्ग को प्रदान की जाएगी।

मुफ्त अनाज – मजदूर तबके को अनाज मुफ्त में उपलब्ध किया जा रहा है, जहां सरकार इस वायरस से निपटने के लिए अन्य कदम उठा रही है वहीं राज्य सरकार द्वारा मजदूर वर्ग को इस समय में प्रत्येक परिवार को 20 किलो गेहूं तथा 15 किलो चावल मुफ्त प्रदान करने का फैसला लिया है और यह राशन मजदूर वर्ग पीडीएस केंद्रों से प्रदान किए जाएंगे।

लाभार्थी – उत्तर प्रदेश जनता उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई मजदूर भत्ता योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश का वासी तथा मजदूर तबका ही उठा सकता है।

पंजीकृत मजदूर – उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता का लाभ उन मजदूरों को दिया जाएगा जो श्रम विभाग नगर विभाग और ग्राम सभाओं में पंजीकृत है।

लाभार्थी राशि – योजना के तहत दी जाने वाली लाभार्थी राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डाली जाएगी इसीलिए लाभार्थी का बैंक खाता होना अनिवार्य है साथ ही वह आधार कार्ड के साथ लिंक भी होना अनिवार्य है तभी उसे यह सहायता प्रदान की जाएगी।

तत्काल राशन – उपलब्ध योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि आपको वायरस से घबराने की आवश्यकता नहीं है और इन चुनौतियों से लड़ने के लिए हर संभव प्रयास सरकार की तरफ से किया जा रहा है| उन्होंने यह भी कहा है कि मजदूरों ठेला चलाने वालों आदि को तत्काल राशन उपलब्ध किया जाएगा।

Helpline Number: Click here

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता पात्रता

  • मजदूर वर्ग उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना का लाभ सर्वप्रथम मजदूरों को दिया जाएगा जो कि ग्राम सभाओं ,नगर विकास, श्रम विभाग में पंजीकृत होंगे और यह राशि उन्हें सीधे बैंक खाते में डाले जाएंगे।
  • स्थाई निवासी आवेदक का उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है, अन्यथा वे इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर पाएगा।
  • प्राथमिकता उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा मजदूर भत्ता योजना के तहत रिक्शा चालक, दिहाड़ी, मजदूरों ,खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाली निर्माण कार्य करने वाली रिक्शा चलाने वाले तथा वोटर्स को इस योजना के तहत प्राथमिकता तथा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • लाभार्थी मजदूर- यूपी सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत लगभग 8000000 मजदूर वर्ग को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी|

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना आवेदन

  1. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किए गए मजदूर भत्ता का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको आवेदन करना होगा इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के लोगों को पंजीकृत करने के लिए नगर निगम नगर पालिका नगर निकाय द्वारा पत्र जारी किया गया है| पत्र में ऐसे व्यक्तियों के बारे में भरा जाएगा जो श्रम विभाग में पंजीकृत नहीं है तथा मनरेगा कार्ड भी नहीं है |
  2. रिक्शा इक्का तांगा चालक ई रिक्शा चालक दैनिक दिहाड़ी मजदूर ठेला चलाने वाले अन्य दैनिक कार्य करने वाले खेलिया चलाने वाले वर्गों संबंध में संकलन प्रारूप पर उपलब्ध मुक्ता अनुसार वंचित संकलित सूचनाएं ऑनलाइन फीड करने के लिए प्रत्येक नगर निगम में नामित नोडल अधिकारी नगर पालिका परिषद नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी उत्तरदाई होंगे|
  3. जिला अधिकारी लोगों की सूचनाओं को ऑनलाइन स्पीड करने हेतु अपर जिलाधिकारी स्तर के एक अधिकारी को जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नामित करेंगे । नगर निगम स्तर से नगर आयुक्त एवं जिला स्तर पर अधिकारी द्वारा स्थानीय निकाय क्षेत्र में दैनिक जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों के विषय में सूचना पत्र भरा जाएगा।
  4. पत्र 2 में अंकित श्रेणी के लिए नगरीय स्थानीय निकायों में पंजीकृत सत्यापित पटरी दुकानदार रिक्शा चालक चालक की नगरीय स्थानीय निकायों में उपलब्ध पंजीकृत सूची का प्रयोग किया जा सकता है। दिहाड़ी मजदूरों के लिए लेवल पर एकत्रित होने वाले व्यक्तियों से संपर्क करके सूचनाओं का इकट्ठा किया जा सकता है इसके अतिरिक्त रूप में जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों के पंजीकरण संगठनों से भी संपर्क कर सूचनाएं प्राप्त की जा सकती है।
  5. वंचित सूचनाएं अपलोड करने के लिए निदेशक स्थानीय निकाय द्वारा ऑनलाइन पोर्टल जल्दी जारी कर ऑनलाइन पोर्टल पर यूज़र आईडी तथा पासवर्ड जल्दी सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को उपलब्ध कराया जाएगा जो नोडल अधिकारी गण को पासवर्ड उपलब्ध कराएंगे यह कार्यवाही आने वाली 15 दिनों में पूरी की जाएगी|

बेरोजगारी भत्ता उप

उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के मजदूरों को 3000000 मजदूर बता देने का पैसा सरकार द्वारा किया गया है इस योजना के अंतर्गत सभी मजदूर वर्ग के लोग जो रेडी चलाते हैं रिक्शा चलाते हैं कामगार हम स्त्रियां कुमार है आदि को शामिल किया जाएगा इस वक्त ए के अंतर्गत लगभग 16 श्रेणी के कामगार मिस्त्री को आदि का भरण पोषण किया जाएगा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अब तक ऐसे 3000000 निर्माण श्रमिकों के साथ अन्य सभी श्रमिकों को यह सुविधा उपलब्ध कराई गई है। उत्तर प्रदेश का कोई भी काम कार्य शामक देश के किसी भी हिस्से में रहता है और उसके पास राशन कार्ड नंबर है तो उसके माध्यम से वहां के कोटे की दुकान से वह अपना राशन प्राप्त कर सकता है|

करुणा वायरस के कारण सबसे अधिक प्रभाव तंग हाल किसानों को तथा मजदूर वर्ग के लोगों को हुआ है और उन्हीं को मध्य नजर रखते हुए यूपी सरकार द्वारा यह कदम उठाए गए हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 30 लाख श्रमिकों को 300 के भरण-पोषण पत्ते का उपहार दिया गया है सीएम की तरफ से हर मजदूर वर्ग के खाते में एक-एक हजारों रुपए का भत्ता प्रदान किया जाएगा| 30 अप्रैल को इस योजना के तहत 16.08 लाख निर्माण श्रमिकों के खाते में 1000 की राशि का भुगतान हुआ है|

FAQ संबंधित प्रश्न एवं उत्तर

प्रशन – उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा शुरू किए गए मजदूर भत्ता योजना का लाभ कहां से प्राप्त कर सकते हैं?

उत्तर: यह भत्ता प्राप्त करने के लिए आपको कहीं पर भी जाने की आवश्यकता नहीं है घर बैठे आपको यह बता मिल जाएगा आपके बैंक खाते में सरकार द्वारा यह बता डाला जाएगा।

प्रशन – उत्तर प्रदेश मजदूर बता योजना का लाभ लेने के लिए क्या पात्रता का होना अनिवार्य है?

उत्तर: मजदूर भत्ता योजना का लाभ केवल उन्हीं मजदूरों को दिया जाएगा जो श्रम विभाग नगर विभाग और ग्राम सभाओं में पंजीकृत होंगे।

प्रशन – उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना के अन्य नाम क्या है?

उत्तर: प्रदेश मजदूर भत्ता योजना का अन्य नाम है, मनी अट होम तथा उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना|

मुख्यमंत्री श्री आदित्य योगी नाथ जी ने कहा है कि यदि इस योजना के उपरांत भी कोई असहाय व्यक्ति बजाता है जिसके पास अपने परिवार के भरण-पोषण करने के लिए पैसे नहीं है तो भी सरकार उन्हें पूरी मदद करेगी। उत्तर प्रदेश के सरकार के द्वारा यह आर्थिक सहायता नगर निकायों जिलाधिकारियों मैजिस्ट्रेट आदि की सहायता से मजदूर वर्ग को प्रदान की जाएगी।

4 thoughts on “[आवेदन पत्र] उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना पंजीकरण फॉर्म”

  1. mera name pawan kumar srivastava hai mai auto chalata hu mera account no. 07822282002948 hai.
    IFSC CODE ORBCO 100782 HAI . mera nivas Banaras, PINDRA, KAYASTHAN PINCODE 221206 HAI. KRIPAYA MAJDOOR YOJANA KE TAHAT GUJARA BHATTA DIYA JAY. MERA PANJIKARN DARJ KIYA JAY .

  2. Santosh Kumar Pal

    My name is Santosh Kumar. Majdur ke liye aavedan kar sakta hun Jo form mil raha hai kahan jama Kiya jaega

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *