PM Kusum Yojana Online Registration “No Official Website” पीएम कुसुम योजना

पीएम कुसुम योजना रजिस्टर: कुसुम योजना का पूरा नाम है प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान । इस योजना के तहत किसानों को सोलर पंप लगाए जाते हैं । इसके अतिरिक्त वे सभी के सामने जिन्होंने पहले से ही पंप लगाए हैं और उनके पुराने पंप और खेती को अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को सोलर एनर्जी के साथ इस योजना के अंतर्गत जोड़ा जाता है। राज्य का प्रत्येक किसान जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है| उसे राज्य की एजेंसी से संपर्क करना होगा, योजना में आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए हर राज्य में एक एजेंसी को अधिकृत किया गया है|

सरकार द्वारा शुरू की गई कुसुम योजना के तहत किसान जमीन पर ऊर्जा उपकरण और पंप लगाकर खेतों की सिंचाई आसानी से कर सकते हैं| अब उन्हें पानी की कमी होने पर कोई भी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा| कुसुम योजना के तहत केंद्र सरकार का यही लक्ष्य है कि देश भर में जो किसान सिंचाई के कारण मुश्किलों का सामना करना पड़ता था उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाए अब इस योजना के माध्यम से किसानों द्वारा सिंचाई करने वाले डीजल तथा बिजली के पंप को सोलर ऊर्जा के पंप में तब्दील किया जाए। ताकि वे इस योजना का लाभ खेतों में अपनी खेती को बढ़ाने में कर सकें|

कुसुम योजना से संबंधित महत्वपूर्ण बिंदु

  1. कुसुम योजना के तहत 1000000 पंप ऐसे स्थानों पर लगाए जाएंगे जहां ग्रिड की सुविधा उपलब्ध है ऐसे इलाकों में मौजूदा पंपों का सोलराइजेशन भी किया जाएगा।
  2. सरकार ने इस योजना के तहत 17.5 सोलर पंप ऑफ ग्रिड लगाने का फैसला किया है|
  3. सोलर पंपों को किसान बिजली कंपनियों को भी भेज सकते हैं इससे उन्हें 60,000 सालाना प्रति एकड़ की कमाई भी होगी|
  4. इस प्रकार किसानों को इस योजना के माध्यम से रोजगार के साधन भी प्राप्त होंगे |
  5. ग्रामीण इलाकों में ग्रिड कनेक्टेड सोलर पावर पॉइंट स्थापित किए जाएंगे इनकी क्षमता 2 मेगावाट कैपेसिटी होगी|
  6. कुसुम योजना का लक्ष्य है कि 2022 तक 25750 मेगा वाट सोलर व रिन्यूएबल ऊर्जा उत्पादन की क्षमता विकसित की जा सके।

कुसुम योजना के अंतर्गत किसानों को लाभ प्रदान दिया जाएगा तथा इससे उन्हें बिजली की भी बचत होगी। खेतों को सिंचाई करने वाले पंप सौर ऊर्जा से मिलेंगे तथा किसानों की खेती में भी इसे बढ़ावा होगा। गरीब किसान सिंचाई करते अपने खेतों में अच्छी फसल की पैदावार कर सकेंगे। डीजल की खपत कम होगी इस योजना से मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन होगा किसानों को मुफ्त में सिंचाई के लिए बिजली मिलेगी अर्थात हम कह सकते हैं कि इस योजना से किसानों को दोहरा लाभ मिलेगा ।

पीएम कुसुम योजना
पीएम कुसुम योजना

राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई कुसुम योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार तथा राजस्थान सरकार 3 करोड़ पेट्रोल और डीजल पंप ओं को सौर ऊर्जा पंप ओं में बदलेगी। इस योजना के अंतर्गत 17.5 लाख डीजल पंप ओं को तीन करोड़ पंपों को आगे आने वाले 10 वर्षों में सोलर पंप में परिवर्तित किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है| इस योजना के अंतर्गत 2020-21 में राज्य के 20,00000 किसानों को सोलर पंप लगाने में मदद की जाएगी| कुसुम योजना उन सभी राज्यों के लिए लाभप्रद है जिन राज्यों में सूखा सबसे अधिक पड़ता है तथा सूखे से ग्रस्त राज्य हैं सूखे से फसलों को काफी अधिक हानि होती है और इसी हानि से निपटने के लिए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है|

योजना से संबंधित जानकारी

  • योजना का नाम- कुसुम योजना 2020
  • लांच की गई- वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली के द्वारा
  • कैटेगरी- केंद्र सरकार योजना
  • उद्देश्य- रियायती मूल्य पर सौर सिंचाई पंप उपलब्ध करना
  • लाभार्थी- किसान भाई

राजस्थान सरकार का यह लक्ष्य है कि 2022 तक 3 करोड सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना 1.4 लाख करोड रुपए से की जाए जिसमें से 48000 करोड रुपए का योगदान केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा जबकि इतनी ही राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी| भारत सरकार द्वारा इस योजना के तहत लगभग 27 लाख किसानों को सोलर पंप वितरित करने का फैसला किया है। हम सभी जानते हैं कि हमारा देश के किसान बहुत ही दयनीय स्थिति में खेती करते हैं तथा कई कठिनाइयों का सामना करते हुए वे हमें अन्य प्रदान करते हैं भारत सरकार द्वारा समय-समय पर किसानों को ध्यान में रखते हुए कई योजनाओं की शुरुआत की है अब जहां किसान पानी के संकट से जूझ रहे हैं उनके लिए यह योजना काफी महत्वपूर्ण है|

कुसुम योजना के लिए पात्रता

  1. भारत का प्रत्येक किसान इस योजना का लाभ उठा सकता है।
  2. आवेदन कर्ता का किसान होना अनिवार्य है|
  3. किसान के नाम पर भूमि का होना भी अनिवार्य है|
  4. किसान के नाम अपना आधार कार्ड होना अनिवार्य है|
  5. आवेदन करते समय किसान को अपना आधार कार्ड तथा बैंक खाता की डिटेल को देना है।

पीएम कुसुम योजना सरकार द्वारा चलाया गया ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महा अभियान योजना के अंतर्गत शुरू की है। इस योजना का शुभारंभ सर्वप्रथम 22 जुलाई 2019 को किया गया था और तभी से ही ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को भी शुरू किया गया था। अब प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महा अभियान के अंतर्गत सरकार द्वारा बहुत से फर्जी वेबसाइटों की जानकारी लोगों को प्रदान की गई है ताकि उन्हें धोखाधड़ी का सामना ना करना पड़े और वे सही वेबसाइट के माध्यम से ही आवेदन कर सकें दोस्तों हम यहां पर आपको विभाग सरकारी द्वारा जारी की गई आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी उपलब्ध करेंगे।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

आधार कार्ड
बैंक अकाउंट पासवर्ड
आय प्रमाण पत्र
मोबाइल नंबर
पते का सबूत
पासपोर्ट साइज फोटो

pm kusum yojana online registration

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कुसुम योजना के अंतर्गत सोलर पंप लगाने तथा मौजूद पंपों को सौर ऊर्जा से चलित करने के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, इस योजना का लाभ उठाने के लिएप्रत्येक राज्य में सरकार द्वारा अलग-अलग एजेंसी निर्धारित की गई है एजेंसियों से संपर्क करने के पश्चात किसान इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महा अभियान के तहत योजना की शुरुआत कई राज्यों में कर दी गई है।

पीएम कुसुम योजना: सरकार द्वारा साफ कर दिया गया है कि कुसुम योजना के तहत किसी भी प्रकार की ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए वेबसाइट जारी नहीं की गई है वह सभी उम्मीदवार जो आवेदन करना चाहते हैं उन्हें क्षेत्र के चयनित अधिकारियों से संपर्क करना होगा जिसके माध्यम से बहुत ही आसानी से वे आवेदन कर सकते हैं इसके अतिरिक्त हम आपको यहां पर हेल्पलाइन नंबर भी बताएंगे जिस पर फोन कर आप इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

योजना के प्रमुख उद्देश्य

A huge number of website shows that the registration for this scheme will be open soon. But their is no any official announcement from the government that PM Kusum yojana is exist or not. Therefore, this news is totally fake news. Moreover,if any official notification will be publish by the government we will updated soon.Above all the information is publish on the basis of newspaper or official website.

  • किसानों के जीवन को ऊपर उठाना है कुसुम योजना का प्रमुख उद्देश्य है।
  • कुसुम योजना के तहत देश के कृषि पंपों को सौर ऊर्जा में बदला जाएगा साथ ही साथ इस योजना में सोलर ग्रेड भी लगाए जाएंगे|
  • किसानों को कुल लागत का केवल 10 फ़ीसदी ही देना होगा बाकी का 90 फ़ीसदी सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा 2022 तक 3 करोड़ों को बिजली तथा डीजल की सहायता से सौर ऊर्जा से चलने के लक्ष्य को पूरा करना है।
  • सरकार द्वारा लगभग 45,000 करोड़ों रुपए का इंतजाम बैंक ऋण के माध्यम से किया जाएगा ।
  • योजना के तहत डीजल से चल रहे 17.5 लाख सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा ।
  • स्कीम के माध्यम से किसानों को दोहरा लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के माध्यम से 28000 मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन किया जाएगा ।

योजना की सच्चाई

FAKE NEWS: 10 जुलाई 2020 को केंद्र सरकार ने एक बयान जारी किया है जिसमें स्पष्ट कहा है कि प्रधानमंत्री कौशल योजना के तहत सरकार ऑनलाइन आवेदन नहीं करती है बहुत सी फर्जी वेबसाइट है ऐसी हैं जो कि ऑनलाइन आवेदन करने का तर्क सोशल साइट्स पर उपलब्ध करें लेकिन इसमें कोई भी प्रकार की सच्चाई नहीं है कृपया आप इसकी तरफ ध्यान दें और राज्य सरकार द्वारा चयनित तथा अधिकृत एजेंसियों के साथ ही संपर्क करें|

दोस्तों हम आपको बता दें कि सरकार द्वारा शुरू की गई वेबसाइट पर किसी भी प्रकार की ऑनलाइन आवेदन करने से जुड़ी जानकारी उपलब्ध नहीं है अर्थात इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा नहीं है। सभी लाभार्थियों में द्वारों को केवल अधिकृत एजेंसियों के साथ ही संपर्क करना होगा।

पीएम कुसुम योजना आधिकारिक वेबसाइट

कुसुम योजना भारत सरकार द्वारा किसानों के लिए चलाई गई योजना है जिसका लाभ देश का प्रत्येक किसान उठाओ सकता है जिन्होंने सिंचाई के लिए पंपों का इस्तेमाल किया है। कुसुम योजना का कार्य किसानों को सिंचाई से संबंधित आने वाली दिक्कतों को दूर करना है तथा उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत करने के साथ ही सरकार ने इस योजना को शुरू किया है सरकार द्वारा इस योजना के लिए तीन करो डीजल और बिजली के चलने वाले पंपों को 2022 तक सोर पंपों में बदलने का काम शुरू किया है । इस योजना के माध्यम से किसान ना केवल सिंचाई का काम आसानी से कर सकते हैं| बल्कि अन्य कई प्रकार की सिंचाई की सफलता के लिए भी सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है इससे किसानों की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी और सिंचाई ना होने से किसानों की फसल भी खराब नहीं होगी|

पीएम कुसुम योजना हेल्पलाइन नंबर

योजना से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप एमएनआरई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके भी आप अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं हेल्पलाइन नंबर हम आपको यहां पर उपलब्ध करने जा रहे हैं, यह एक टोल फ्री नंबर है इस पर फोन करने के लिए आपको किसी भी प्रकार का कोई भी शुल्क अदा करने की आवश्यकता नहीं है।

हेल्पलाइन नंबर- 18001803333

कुसुम योजना के माध्यम से किसानों की बंजर भूमि पर भी अच्छी फसल के उत्पादन किया जा सकता है इससे किसानों को दोहरा लाभ मिलेगा मोस्ट में सिंचाई के लिए बिजली मिलने के अलावा किसान अतिरिक्त बिजली बनाकर ग्रिड को भेजेंगे तो उन्हें इसकी अच्छी कीमत भी मिलेगी इस प्रकार किसानों को दोहरा लाभ प्राप्त होगा इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य यही है कि किसानों को अधिक सशक्त किया जाए और उनकी आय के साधनों को बढ़ाया जाए ताकि एक एक अच्छा जीवन व्यतीत कर सकें|

आवेदन प्रक्रिया

  1. सर्वप्रथम आवेदन करने के लिए आपको विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  2. इस पेज में आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना है।
  3. इसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गई जानकारी जैसे कि अपना नाम पता आधार नंबर मोबाइल नंबर आदि को भरना है। दी गई जानकारी को भरने के पश्चात सबमिट बटन पर क्लिक कर दें ।
  4. सफल पंजीकरण के बाद आपको चयनित लाभार्थी को सौर पंप सेट की 10% विभाग द्वारा अनुमोदित अनुभूति कर्ताओं को जमा करने के लिए निर्देशित किया जाता है।
  5. इसके बाद कुछ ही दिनों में अपने खेतों में सोलर पंप लगा दिए जाएंगे ।

दोस्तों इस प्रकार बहुत ही आसानी से आप कुसुम योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं अधिक जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करें और हम से प्रश्न पूछे हम आपके प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *