एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म 2020 @npci.org.in राशन कार्ड पंजीकरण कैसे करें

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म: भारत सरकार द्वारा चलाई गई ऐसी अभियान है जिसके तहत पूरे भारत में एक तरह के राशन कार्ड लोगों को उपलब्ध किए जाएंगे ताकि उन्हें दूसरे राज्य में जाने पर भी किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना हो आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से एक राष्ट्र एक कार्ड से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करने जा रहे हैं ताकि यदि आप इसके लिए आवेदन करना जाएं तो आपको किसी भी प्रकार की कोई भी परेशानी ना हो| यहां पर हम आपको इस योजना के लिए किन जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी तथा क्या दिशा निर्देश सरकार द्वारा निर्धारित किए गए हैं| इस सभी से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध करने जा रहे हैं|

एक राष्ट्र एक कार्ड योजना के लिए भारत सरकार द्वारा लागू करने के पूरे प्रारूपों को तैयार कर लिया गया है| जहां पहले इस योजना के तहत केवल 17 राज्यों को ही जोड़ा गया था अब तीन और राज्यों को मिलाकर कुल 20 राज्यों को जोड़कर इस योजना का लाभ प्रदेश की जनता को दिया जाएगा इस योजना में शामिल प्रदेश हैं आंध्र प्रदेश, तेलगाना, गुजरात, महाराष्ट्र, हरियाणा, राजस्थान, कर्नाटका, केरला, मध्य प्रदेश, गोवा, झारखंड, त्रिपुरा, बिहार, यूपी, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दमन एवं दीव उड़ीसा तथा नागालैंड| 1 जून से शुरू होने वाले इस प्रारूप को पूरे भारतवर्ष में शुरू करने की तैयारी सरकार द्वारा की गई है लेकिन पहल में वर्तमान के 20 राज्यों में ही इसका प्रशिक्षण के तौर पर अमल किया जाएगा।

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म
एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म

खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि 1 जून से लगभग 20 राज्य और केंद्र शासित देशों में एक राष्ट्र एक कार्ड को शुरू कर दिया जाएगा यह कार्ड जैसे कि नाम से ही प्रदर्शित करता है| विभिन्न प्रकार की सेवाएं प्रदान करता है इस कार्ड के माध्यम से देश का प्रत्येक व्यक्ति किसी भी उचित मूल्य की दुकान से अपने हिस्से का सामान सस्ते दामों पर प्राप्त कर सकता है| इसके लिए उसे अपने घर के पास के ही उचित मूल्य की दुकान पर जाने की आवश्यकता नहीं है पूरे भारत में किसी भी दुकान से राशन प्राप्त कर सकता है|

योजना से संबंधित जानकारी

योजना का नामएक देश एक कार्ड योजना
शुरू की गईश्री राम विलास पासवान के द्वारा
उद्देश्य लोगों को एक ऐसा कार्ड उपलब्ध करना जो पूरे देश में माने हूं और जरूरतमंद खाद्यान्न प्राप्त करने से वंचित ना रहे|
योजना की शुरुआत1 जून 2020
लाभार्थीभारतीय राशन कार्ड धारक
विभागभारतीय खाद्य निगम विभाग
कुल लाभार्थी 81 करोड राशन कार्ड धारक

एक राष्ट्र एक कार्ड में जहां पहले सिर्फ पांच राज्य को जोड़ा गया था उसके पश्चात धीरे-धीरे इसमें अन्य राज्यों को जोड़ते हुए 17 राज्य हो गए लेकिन अब 1 मई से 20 राज्यों के साथ इस योजना की शुरुआत की जाएगी अंतिम में यह तीन राज्य जो जोड़े गए हैं वह है उड़ीसा मिजोरम और नागालैंड| सरकार द्वारा इस योजना को पूरी तरह से इन 20 राज्यों में लागू करने की सहमति प्रदान कर दी है| एक राशन एक कार्ड 1 जून से पोटेबिलिटी के शुभारंभ के लिए तैयार है| खाद्य मंत्री द्वारा यह भी कहा गया है कि राशन कार्ड के साथ आधार विवरण को संबंध करना और पीडीएस दुकानों पर पॉइंट ऑफ सेल मशीन स्थापित करना राशन कार्ड पोटेबिलिटी को प्रभावी रूप से सक्षम बनाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है|

एक राष्ट्र एक कार्ड की उपयोगिता

एक राष्ट्र एक कार्ड की शुरुआत राम विलास पासवान के द्वारा कर दी गई है इस कार्ड के इस्तेमाल भारत के नागरिक सभी प्रकार के पब्लिक ट्रांसपोर्ट का भुगतान करने के साथ-साथ अन्य कई प्रकार की सेवाओं में भी इसका लाभ प्राप्त कर सकते हैं| यह कार्ड RuPay द्वारा पावर्ड इस कार्ड को नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड के तौर पर भी प्रयोग किया जा सकता है। इस योजना से गरीब, मजदूर, और ऐसे लोग लाभान्वित होंगे जो जीविका रोजगार या किसी अन्य कारण से एक राज्य से दूसरे राज्य में रहते हैं|

कार्ड से संबंधित जानकारी

  1. एक राष्ट्र एक कार्ड पुराने कार्ड की तरह ही है और यह कार्ड की नजदीकी बैंक शाखा से ही प्रदान किया जाएगा|
  2. इस कार्ड का इस्तेमाल बैंक डेबिट क्रेडिट और प्रीपेड कार्ड के रूप में भी किया जा सकता है बैंक द्वारा इसे ऐसे ईशु किया जाएगा|
  3. एक राष्ट्र एक कार्ड पूरी तरह से कॉन्टैक्टलेस कार्ड होगा इस कार्ड पर कार्ड होल्डर का नाम अंकित नहीं रहेगा|
  4. यह कार्ड मेट्रो रेल स्मार्ट कार्ड की तरह ही रहेगा इस पर उपयोगकर्ता का कोई भी डिटेल नहीं रहेगी|
  5. नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड सपोर्ट वाला वन नेशन 1 कार्ड पाने के लिए आपको बैंक की शाखा में जाना होगा।
  6. यह कार्ड देश के 25 बैंक द्वारा प्रदान किया जा रहा है जिसमें एसबीआई पीएनबी समेत कई अन्य बैंक भी शामिल है|
  7. इस कार्ड को आप पेटीएम के माध्यम से भी ले सकते हैं इस कार्ड को पेटीएम पेमेंट बैंक भी यीशु कर रहा है|
  8. इसका इस्तेमाल आप शॉपिंग के साथ बस मेट्रो के अलावा पब्लिक ट्रांसपोर्ट के भुगतान में भी कर सकते हैं|
  9. इसके माध्यम से आप टोल पार्किंग के भुगतान भी आसानी से कर सकते हैं|
  10. इस कार्ड के माध्यम से आप एटीएम से पैसे भी निकाल सकते हैं।
  11. इस सिस्टम को ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन गेट और ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम ने मिलकर डिवेलप किया है|
  12. यह कार्ड मैं स्थानीय भाषा के साथ-साथ दूसरी हिंदी तथा अंग्रेजी का इस्तेमाल करेंगे |
  13. इस कार्ड में 10 अंकों का एक नंबर यह गा जिसमें पहले 2 अंक राज्य के कोड रहेंगे अगले अंक राशन कार्ड संख्या के अनुरूप होंगे इसमें अगले 2 अंक राशन कार्ड के परिवार के प्रत्येक सदस्य के पहचान के तौर पर शामिल होंगे।

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म 2020: हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू किया गया यह कार्य बहुत ही स्थानों में सेवाएं प्रदान करता है मोदी जी ने इस कार्ड को अहमदाबाद में मेट्रो ट्रेन सेवा के पहले चरण में 10 किलोमीटर के मैच का उद्घाटन करते हुए इस एनसीएमसी को शुरू किया है| साथ में उन्होंने यह भी कहा है कि यह कार्ड RuPay” सिस्टम पर आधारित है इस कार्ड के माध्यम से आपकी यात्रा संबंधी बहुत से दिक्कतों का निदान होगा| विभिन्न दिक्कतों का निदान करने के लिए बहुत ही सहायक है| यदि आप किसी स्थान के लिए यात्रा कर रहे हैं और आपके पास पर्याप्त किराया नहीं है तो आप इस कार्ड के माध्यम से किराया संग्रह प्रणाली एनसीएमसी तैयार की गई है जिससे आपको किसी भी प्रकार की कोई भी परेशानी नहीं होगी|

One Nation One Ration Card

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इस प्रणाली को भी देश के आजाद किया गया है लेकिन प्रदेश में भी इस प्रणाली को हर संभव प्रयास में लागू करने के लिए विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं। जैसे कि हम सभी जानते हैं कि एक शहर के द्वारा जारी किया गया था| दूसरे राज्य तथा शहर में काम नहीं करता था लेकिन अब इस मुद्दे से निपटने के लिए सरकार ने आग को जारी किया है जो कि यदि आप अपने राज्य में भी इस काम को बनाते हैं, तो अन्य राज्य में जाने पर भी आप इसका इस्तेमाल आसानी से कर सकते हैं|

एक राष्ट्र एक कार्ड पंजीकरण फॉर्म

[NOTE ] मोदी जी द्वारा यह भी कहा गया है कि देश में ही बने इस कार्ड से एनसीएमसी कार्ड से तकनीक के लिए विदेश पर निर्भरता खत्म हो गई है| दुनिया के कुछ चुनिंदा देशों में इस कार्ड को पहले से ही इस्तेमाल हो रहा है लेकिन अब पूरे भारतवर्ष में से इस्तेमाल करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं| जैसा कि इस इस कार्ड को कार्ड के माध्यम से व्यक्ति किसी भी राज्य में उचित मूल्य की दुकान से आसानी से सामान प्राप्त कर सकते हैं| इसके लिए उसे संबंधित राज्य के राशन कार्ड की आवश्यकता नहीं पड़ेगी केवल इस कार्ड के माध्यम से ही में यह राशन प्राप्त कर सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इस कार्ड को शुभारंभ करने का एक प्रमुख उद्देश्य भी है कि इस महामारी कोविड-19 मैं जब लोगों को खाने पीने की बहुत अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है तो इस आपदा के समय में इस तरह के कार्ड की उपलब्धता होने पर कई समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। जैसा कि हम सब जानते हैं कि भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व कोविड-19 के दायरे में है और कोविड-19 स्कोर अपने अंदर निकलने की तरफ अग्रसर हो रहा है लेकिन देश की विभिन्न स्वास्थ्य टीमें तथा विभिन्न देशों की टीमें इसे खत्म करने के लिए वैक्सीन बनाने में अग्रसर हैं| परंतु किसी को भी अभी तक सफलता मिलने में मुकाम हासिल नहीं हुआ है। इसी बीच सरकार द्वारा इस कार्ड को अपनाने की ओर विचार किया है ताकि इसकी वजह से देश में लगे लॉक डाउन के दौरान पलायन करने वाले मजदूरों आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को अनाज मिल सके|

एक राष्ट्र एक कार्ड कैसे बनाये?

इसके जारी होने से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के पात्र लाभार्थी एक ही राशन कार्ड का उपयोग करके देश के किसी भी राज्य में उचित मूल्य की दुकान से खाद्यान्न प्राप्त कर सकते हैं। सरकार द्वारा एक बहुत बड़ा फैसला जो कि लोगडाउन के दौरान ही लोगों को इस सौगात को देने का फैसला किया है वह है “एक राष्ट्र एक कार्ड योजना”| सरकार द्वारा इस योजना को लागू करने का पूरा प्रारूप तैयार कर लिया गया है वहीं पर “न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति बी आर गवाही” ने अपने आदेश में कहा है, कि हम केंद्र सरकार को इस समय इस योजना को लागू करने की व्यवहारिकता पर विचार करने और परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए उचित निर्णय लेने का निर्देश देते हैं|

सभी राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने और पॉइंट ऑफ सेल मशीन के माध्यम से खाद्यान्न वितरण करने की व्यवस्था पूरी कर ली गई है| इस समय आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलगाना और त्रिपुरा ऐसे राज्य हैं जहां खाद्यान्न वितरण का 100% कार्य पॉइंट ऑफ सेल मशीन के माध्यम से ही किया जा रहा है| इन राज्यों के सभी उचित मूल्य की दुकानों को इंटरनेट के साथ जोड़ दिया गया है| अब इन स्थानों का कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक वितरण की दुकानों से अनाज प्राप्त कर सकते हैं।

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म 2020

सरकार द्वारा सभी प्रदेशों के बेटों को ऑनलाइन प्रणाली के साथ छोड़ा गया है ताकि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के लोगों को सहायता पहुंचाने में किसी प्रकार की कोई भी रुकावट ना हो और सारी स्पष्टता के साथ जानकारी सरकार तक पहुंचाई जा सके| यह कार्ड लागू होने से देश के सभी नागरिकों को एक कार्ड से पूरे देश में कहीं पर भी राशन उपलब्ध होगा| राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत सभी लोगों को अनाज की उपलब्धता सुनिश्चित होगी|

Registration Form Online: Click here

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म: ऐसी एक प्रणाली बनाई गई है जिससे अन्य वितरण पोर्टल एवं विशेष रूप से डिजाइन किया गया है| जिसे ट्रांसपोर्ट के जरिए एक्सेस किया जाएगा| राज्य सरकार द्वारा अपने लोगों के लिए इस कार्ड का वितरण किया जाएगा| इस कार्ड के जरिए प्रदेश का प्रत्येक नागरिक देश के किसी भी दुकान में जाकर अपने हिस्से का अनाज प्राप्त कर सकता है|

  1. इस आपदा के समय में प्रवासी मजदूरों के लिए यह कार्ड बहुत ही प्रभावशाली होगा|
  2. दूसरे राज्यों में रोजगार की तलाश में गए मजदूरों के लिए बहुत अधिक सहायता इस कार्ड के माध्यम से मिलेगी।
  3. यह कार्ड के माध्यम से किसी भी राज्य की पीडीएस राशन केंद्र से लेने से पूर्व रूप से स्वतंत्र होगा। इस कार्ड के अंतर्गत किसी एक केंद्र से ही राशन प्राप्त था करने की बाध्यता नहीं होगी ताकि किसी एक ही दुकान पर अधिक भार ना पड़ जाए|
  4. जो राज्य अभी तक पीडीएस प्रणाली के साथ नहीं जोड़े गए थे बहुत ही जल्द सरकार द्वारा उन्हें भी छोड़ने का प्रयास संभव कर लिया गया है|
  5. इसके साथ ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने का प्रयास मोदी सरकार द्वारा किया गया है|
  6. इस योजना के माध्यम से भ्रष्टाचार पर भी रोक लगेगी और उपभोक्ता राशन कार्ड की मदद से किसी भी पीडीएस की दुकान से पारदर्शिता के माध्यम से आसानी से खरीद सकते हैं|

यह योजना देश के लोगों के लिए बहुत ही सहायक हैं प्रमुख रूप से वह सभी लोग और जो असहाय हैं तथा खाने-पीने की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ रहा है परिवार भूखे पेट सो रहा है उनके लिए यह योजना काफी सहायक है| इस समय में जहां कई लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है यह योजना उनके लिए नींव का पत्थर साबित होगी| अब आपको इस कार्ड के माध्यम से किसी एक राशन की दुकान पर रहने की आवश्यकता नहीं है आप कहीं से भी राशन प्राप्त कर सकते हैं| यो प्रणाली लागू होने से पारदर्शिता बढ़ेगी और भ्रष्टाचार पर भी रोक लगेगी| एक कैदी कार्ड बनाने की गुंजाइश भी इसमें नहीं है क्योंकि केंद्र सरकार द्वारा जीएसटी इन की तर्ज पर राशन कार्ड का रियल टाइम ऑनलाइन डाटाबेस तैयार किया जाएगा जिससे एक से अधिक कार्ड व्यक्ति नहीं बना पाएगा।

npci.org.in

कार्ड लागू होने से देश की प्रणाली में जहां चोरी और धांधली रोकने में भी जबरदस्त सफलता मिलेगी केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई यह योजना काफी लाभप्रद सिद्ध होगी| उपभोक्ताओं को सहूलियत प्रदान करने के लिए प्रमुखता यह योजना शुरू की गई है इस सुविधा से रोजी रोटी और नौकरी जिओ प्लान करने वाले उपभोक्ताओं को सबसे अधिक फायदा पहुंचेगा| उपभोक्ताओं के हितों की ओर ध्यान देखते हुए हैं भारत सरकार द्वारा यह फैसला लिया गया है कि अब उपभोक्ताओं को केवल एक दुकान के साथ बांधकर ही नहीं रखा जा सकेगा में विभिन्न दुकानों से मदद प्राप्त कर सकते हैं और उचित मूल्य की खाद्यान्न प्राप्त कर सकते हैं|

एक राष्ट्र एक कार्ड योजना आवेदन प्रक्रिया

भारत सरकार 1 जून से यह महत्वाकांक्षी योजना आम जनता के लिए शुरू कर दी जाएगी| लोक डाउन के दौरान कामगारों मजदूरों, गरीब लोगों को आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए यह योजना अनाज उपलब्ध करेगी| किसी भी स्थान पर अब लोग खाद्यान्न प्राप्त कर सकेंगे| “वन नेशन वन कार्ड” के तहत पीडीएस के लाभार्थियों की पहचान उनके आधार कार्ड पर “इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ सेल” डिवाइस से की जाएगी| इस योजना को पूरे देश में लागू करने के लिए सभी उचित मूल्य की दुकानों पर “पीओएस मशीनें” लगाई जाएंगी जैसे-जैसे राज्य पीओएस मशीन की रिपोर्ट देंगे वैसे वैसे उन्हें वन नेशन वन कार्ड की योजना में शामिल किया जाएगा|

Click here Helpline Number दोस्तों हम आपको अवश्य बता रहे कि आपके पुराने कार्ड भी व्यर्थ नहीं है उनका इस्तेमाल भी आप कर सकते हैं लेकिन यह नया कार्ड आपको विभिन्न प्रकार की सेवाएं उपलब्ध करता है 2 भाषाओं में जारी होने वाला यह कार्ड बहुत ही लाभप्रद है| इसमें स्थानीय भाषा के साथ साथ हिंदी और अंग्रेजी का भी इस्तेमाल किया जाएगा| भारत का नागरिक इस कार्ड के लिए अप्लाई कर सकता है 18 साल से कम उम्र के बच्चों को उनके माता-पिता कार्ड के साथ जोड़ा जाएगा| इस राशन कार्ड धारक के माता-पिता को 5 किलो चावल 3 किलो रुपए की दर से तथा गेहूं दो रुपए किलो की दर से मिलेगा|

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन प्रक्रिया

  1. जैसा कि भारत सरकार द्वारा पहले ही बताया गया है कि यह कार्ड आपकी राज्य सरकार द्वारा ही जारी किया गया है लेकिन यह योजना केंद्र सरकार की है।
  2. इस कार्ड का लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको राज्य के खाद्य और रसद विभाग के अधिकारिक पेज में जाना होगा।
  3. यहां पर आपको अपनी भाषा का चुनाव करना है।
  4. यहां पर आपको संबंधित सारी जानकारी जैसे कि क्षेत्र का नाम, जिला का नाम, ग्राम पंचायत के बारे में संपूर्ण जानकारी को देना है|
  5. अब आगे दिए गए पेज पर आपको कार्ड का चुनाव करना है तथा अन्य जानकारी जो पूछी जाएगी उसे भरना है|
  6. पूरी जानकारी को भरने के पश्चात सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है साथ ही आपको इसका प्रिंटआउट भी अपने पास रख लेना है|

एक राष्ट्र एक कार्ड आवेदन फॉर्म 2020: इस प्रकार आप बहुत ही आसानी से घर बैठे ऑनलाइन एक राष्ट्र एक कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं| यदि फिर भी आपको किसी प्रकार की कोई भी परेशानी इस कार्ड को डाउनलोड करने से संबंधित आती है तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से संपर्क करें| हमारी टीम द्वारा आपकी समस्या का समाधान किया जाएगा|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *