MP migrant workers registration [e pass madhya pradesh download]

MP migrant workers registration/मध्य प्रदेश माइग्रेंट वर्कर्स रजिस्ट्रेशन: मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा इस लॉकडाउन के समय में प्रवासी मजदूरों तथा लोगों को प्रदेश में वापस लाने के लिए उचित अभियान चलाया गया है, इसके तहत वे सभी लोग जो प्रदेश में वापस आना चाहते हैं वह आसानी से अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं| रजिस्ट्रेशन करने से संबंधित संपूर्ण प्रक्रिया को हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे हैं। कोरोनावायरस दिन प्रतिदिन अपनी जड़ों को मजबूत कर रहा है। अन्य देशों के मुकाबले भारत में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या कम है| भारत सरकार द्वारा उचित समय पर सही निर्णय लेने से इस बीमारी पर कुछ हद तक लगाम लगाई जा चुकी है। लेकिन सरकार द्वारा लगाए गए कर्फ्यू तथा उनके कारण प्रदेश तथा विभिन्न राज्यों में लोग जो फंसे हैं उन्हें बहुत अधिक कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है इसी के मद्देनजर मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा भी अन्य राज्यों में फंसे लोगों को उचित सहायता प्रदान करना तथा राज्य में वापस लाने के लिए उचित प्रबंध किए गए हैं।

MP migrant workers registration: भारतवर्ष में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है| कोरोनावायरस से भारतवर्ष में लगाए गए लॉकडाउन से दूसरे राज्यों में कई प्रवासी मजदूर, तीर्थयात्री, पर्यटक और छात्र के साथ-साथ अन्य जो दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। गृह मंत्रालय की ओर से यह दिशा निर्देश दिए गए कि सभी मजदूर वर्ग के लोगों को अपने अपने घरों की ओर रवाना किया जाए ताकि उन्हें किसी प्रकार की अधिक परेशानी ना हो। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने से संबंधित जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

MP migrant workers registration
MP migrant workers registration

गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए फैसलों के अनुसार दूसरे राज्यों में फंसे मजदूर वर्ग के लोग तीर्थयात्रियों के सभी छात्र अपने घर जाना चाहते हैं उन्हें रजिस्ट्रेशन करना होगा| मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा एक पोर्टल तैयार किया गया है इस पोर्टल पर आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा| जिसके माध्यम से आपको फोन पर एसएमएस के माध्यम से अनुमति दी जाएगी तभी आप एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से पहुंच सकते हैं\ आपको इस पोर्टल पर पूछी गई जानकारी को सही-सही भरना है यदि आप जिस स्थान पर रह रहे हैं “वह ग्रीन जोन है” तो आपको आसानी से उस स्थान से दूसरे स्थान में स्थानांतरण करने में विभाग द्वारा देरी नहीं की जाएगी| परंतु यदि “आप रेड जोन में है” तो विभाग द्वारा आपको पहले क्वॉरेंटाइन किया जाएगा उसके बाद ही आपको अनुमति दी जाएगी वह भी यदि बहुत ही महत्वपूर्ण है तो|

MP migrant workers registration

प्रदेश सरकार द्वारा लॉक डाउन का समय 17 मई 2020 तक बढ़ा दिया गया है| लेकिन इस समय में सरकार द्वारा कुछ ढील आम जनता के लिए दी गई है| जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कोरोना वायरस के लिए अभी तो कोई भी व्यक्ति तैयार किए कि नहीं गई है कि वह अन्य सरकारों द्वारा भी विभिन्न तरीकों से ही इसको ना वायरस को फैलने पर रोक लगाई जा रही है| इसी प्रकार भारतवर्ष में भी सरकार द्वारा सभी लोगों से यही अपील की जा रही है कि वह सामाजिक दूरी रखकर ही विभिन्न कार्य करें|

महत्वपूर्ण दस्तावेज

दोस्तों आवेदन करने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की अभी आवश्यकता पड़ेगी जैसे कि
आधार कार्ड नंबर
मोबाइल नंबर
आवेदन कर्ता का नाम
राज्य का नाम
वर्ग (जैसे कि मजदूर, छात्र, तीर्थयात्री, पर्यटक, ड्राइवर आदि)
आरोग्य सेतु एप
फोन में होना अनिवार्य है
उम्र परिवार के सदस्यों की संख्या
समय अवधि
जिस राज्य में जा रहे हैं उसकी स्थिति

मध्य प्रदेश गृह विभाग द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार निम्नलिखित श्रेणियों में आवेदन किया जा सकता है:-

  1. खाद्यान्न उपार्जन एवं अन्य अत्यावश्यक सेवाओं हेतु- ऐसे नागरिकों तथा संस्था के प्रतिनिधि जो खाद्यान्न उपार्जन एवं उनकी गतिविधियों तथा सेवाओं के लिए से दूसरे जिले 1 जिले से अन्य राज्य में आवागमन करते हैं उन्हें आवागमन करने की अनुमति सरकार द्वारा दी गई है।
  2. अत्यधिक आवश्यक सेवाओं से संबंधित सामग्री के डोर टू डोर विवरण हेतु- वे सभी लोग तथा व्यक्ति संस्थाएं कंपनियां जो एक जिले से दूसरे जिले में या एक से अधिक जिलों में नागरिकों के लिए अत्यधिक सेवाओं से संबंधित सामग्री को डोर टू डोर वितरण व्यवस्था में कार्यरत हैं उन्हें अनुमति सरकार द्वारा प्रदान की गई है|
  3. परिवहन कर्ताओं हेतु- वह सभी परिवहन करता जो सामग्रियों को मध्य प्रदेश में 1 जिले से दूसरे जिले तथा अन्य राज्यों में मध्यप्रदेश में सामग्री लाने तथा मध्य प्रदेश से सामग्री अन्य राज्यों में ले जाने के लिए परिवहन से जुड़े हैं उन्हें अनुमति दी गई है।
  4. व्यक्तिगत आपत्ति कार्य- यदि व्यक्ति को व्यक्तिगत आपत्ति कार्य से आवागमन करना हो| तो उसे अनुमति दी गई है|

e pass madhya pradesh download

राज्य सरकार द्वारा सभी मजदूर वर्ग के लोगों तथा छात्रों पर्यटकों को घर पहुंचाने के लिए नोडल अथॉरिटी का गठन किया जाएगा| यही अथॉरिटी अन्य राज्य के नोडल अधिकारी के साथ बातचीत करने पर अपने लोगों को राज्य में बुलाने की अनुमति पर हस्ताक्षर करेंगे। यदि किसी राज्य में कोई भी पर्यटक स्थल छात्र तीर्थयात्री अधिक फंसे हुए हैं तो राज्य सरकार दूसरी राज्य सरकार से बातचीत करने के बाद उसे आपसी सहमति पर छूट दे सकती है। दूसरे राज्यों में फंसे हुए लोगों की भी पूर्ण रूप से मेडिकल जांच की जाएगी कोरोना वायरस की पुष्टि होने पर वे अपने घर जा नहीं पाएंगे। उसी राज्य में विभाग द्वारा पूर्ण देखभाल में उनका इलाज किया जाएगा जिस साधन में लोगों को एक राज्य से दूसरे राज्य में भेजा जाएगा उससे संबंधित संपूर्ण सामाजिक दूरी का पालन किया जाएगा।

MP migrant workers registration

अभी लोग जो अपने घरों में पहुंच जाएंगे एक बार पुनः जांच की जाएगी तथा 14 दिन के लिए होम करंट टाइम को कहा जाएगा घर पर किसी व्यक्ति के संपर्क में नहीं आ सकते हैं इसके साथ ही उनके फोन में आरोग्य सेतु एप का होना भी अनिवार्य रहेगा ताकि उन्हें सरकार द्वारा ट्रेस किया जा सके | गृह मंत्रालय द्वारा देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी श्रमिकों के रखो आदि के लिए यह दिशा निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने स्थान पर वापस आ सकते हैं। इन सभी प्रवासी लोगों को सड़क मार्ग द्वारा बसों के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाया जाएगा परंतु उनका चिकित्सालय जांच दोनों स्थानों पर की जाएगी ।

अनुमति प्राप्त करने की प्रक्रिया

आवेदन फॉर्म ऑनलाइन

  1. वह सभी उम्मीदवार जो अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं और मध्यप्रदेश वापस आना चाहते हैं उनके पास अनुमति नहीं है तो वे राज्य द्वारा दी गई अनुमति से अपने घर वापस आ सकते हैं|
  2. सर्वप्रथम आवेदन करने के लिए आपको जिलाधिकारी द्वारा अनुमति लेनी होगी।
  3. राज्य द्वारा अनुमति प्राप्त होने के बाद जिला अधिकारी पास की हस्ताक्षरित प्रति अपलोड कर सकेंगे|
  4. सभी आवेदन पत्रों को का संकलन संबंधित जिला के जिला स्तरीय अधिकारी द्वारा किया जाएगा।
  5. अन्य सभी जिलों के श्रेणियों के आवेदन पर संबंधित जिले स्तर के अधिकारी द्वारा ही निर्णय लिए जाएंगे।
  6. अन्य राज्य से मध्यप्रदेश में आने हेतु किए गए आवेदन के अनुमति गंतव्य जिले के जिला स्तर अधिकारी द्वारा दी जाएगी।

MP migrant workers registration/मध्य प्रदेश माइग्रेंट वर्कर्स रजिस्ट्रेशन

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा दिए की ताजा रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने अन्य राज्यों से लगभग 20000 प्रवासी मजदूरों को अपनी दे प्रदेश वापस लाया है। यह जानकारी प्रदेश के चीफ सेक्रेट्री सीपी केसरी द्वारा दी गई है। सभी मजदूर प्रदेश में लगभग 200 बसों के माध्यम से राजस्थान से नागपुर से जोधपुर से मध्यप्रदेश वापस आए हैं। इन सभी मजदूरों को चेकअप के बाद इनके घरों में भेजा गया है परंतु वहां भी उन्हें 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन रहने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं।

अधिकारियों के अनुसार गुजरात से भी लगभग 500 लोगों को प्रदेश में वापस लाया गया है। इसके अतिरिक्त 2000 से लेकर 3000 मजदूर वर्ग के लोग ऐसे भी हैं जिन्हें प्रदेश में ही एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाया गया है जबकि प्रदेश में लगभग तीन हजार के करीब ऐसे लोग हैं जो कि राजस्थान के रहने वाले हैं और उन्हें यहां से राजस्थान भेजा गया है|

इस प्रकार आप बहुत ही आसानी से मध्यप्रदेश में जाना चाहते हैं तो आवेदन कर सकते हैं। आवेदन से अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट के माध्यम से संपर्क करें|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *