प्रवासी मजदूर हेल्पलाइन नंबर [State Wise] Migrant helpline number

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर हेल्पलाइन नंबर/Migrant helpline number: योगी आदित्यनाथ जी द्वारा प्रदेश के बाहर फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए एक नई सुविधा शुरू की है| यह है हेल्पलाइन नंबर| हेल्पलाइन नंबर जो कि राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए हैं यह विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों के लिए अलग-अलग है|सरकार द्वारा सभी प्रवासी मजदूरों को प्रदेश में वापस लाने के लिए उचित प्रबंध किए है। विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों को योगीसरकार द्वारा विभिन्न साधनों के माध्यम से प्रदेश में लाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त यूपी सरकार द्वारा विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों को आर्थिक सहायता भी प्रदान की जा रही है ताकि उन्हें किसी प्रकार की कोई भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े| कोरोना वायरस के कारण जहां पूरे प्रदेश में लॉकडाउन का समय है इससे प्रदेश की जनता को बहुत अधिक परेशानियों का सामना विभिन्न राज्यों में करना पड़ रहा है। राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास लोगों को सहूलियत बचाने के लिए किया जा रहा है। सरकार द्वारा विभिन्न राज्यों में फंसे कामगार मजदूरों के लिए अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। हेल्पलाइन नंबर से संबंधित संपूर्ण जानकारी हम आपको इस आर्टिकल में उपलब्ध करने जा रहे हैं|

Migrant helpline number

इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा संबंधित राज्य सरकारों से प्रवासी श्रमिकों के नाम, पति टेलीफोन नंबर और स्वास्थ्य की स्थिति सही संपूर्ण वितरण प्रदान करने का अनुरोध किया है ताकि उनकी सुरक्षित वापसी कार्य योजना को आगे बढ़ाया जा सके। योगी आदित्यनाथ द्वारा अपने ट्वीट में उन्होंने लोगों से अपील है कि वे के सामने और पत्रकार द्वारा उचित इंतजाम उनको घर पहुंचाने के लिए किए जा रहे हैं|

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर हेल्पलाइन नंबर

विभाग- उत्तर प्रदेश सरकारी विभाग
योजना- उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर योजना
शुरू की गई– योगी आदित्यनाथ के द्वारा
लाभ- लोगों को घर पहुंचाने की सहायता प्रदान करना

विभिन्न प्रवासी श्रमिकों को वापस लाना

उत्तर प्रदेश के प्रकार के द्वारा विभिन्न जिलों से प्रवासी श्रमिकों को वापस लाया गया है यहां हम आपको कुछ ऐसे राज्यों के नाम बताए गए जहां से यूपी सरकार द्वारा श्रमिकों को वापस अपने प्रदेश में लाया गया है।

उत्तर प्रदेश के बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो दिल्ली से एनसीआर के माध्यम से पैदल ही घरों की ओर यात्रा पर निकल चुके हैं। उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा विभिन्न राज्यों में फंसे कामगारों के लिए हेल्पलाइन नंबर को जारी किया है| जिसके माध्यम बहुत से लोगों को काफी अधिक सहूलियत मिल रही है उत्तर प्रदेश के प्रवासी कामगार जो दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं| उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के द्वारा राज्य के फंसे उत्तर प्रदेश के काम कार्रवाई व श्रमिकों को सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए उचित इंतजाम किए हैं। उत्तर प्रदेश के सभी बातें चीनी किसी प्रकार की कोई भी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो वे इस हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से संपर्क कर सकते हैं।

दिल्ली- 4 लाख प्रवासी श्रमिक काम कार
हरियाणा- 12 हजार श्रमिक
कोटा- 11 हजार छात्र एवं छात्राएं
प्रयागराज- 15 हजार से अधिक छात्र एवं छात्राएं

प्रवासी मजदूर हेल्पलाइन नंबर

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ जी द्वारा बाहर के क्षेत्रों से आने वाले मजदूर वर्ग के लोगों के लिए राजस्व विभाग से 600000 लोगों के लिए को रनटाइम आश्रय केंद्र और सामुदायिक रसोई तैयार कराई है। इस प्रकार अन्य राज्यों से जो भी कामगार तथा श्रमिक वर्ग के लोग उत्तर प्रदेश में वापस आएंगे उन्हें यहां पर कुछ दिन के लिए क्वॉरेंटाइन किया जाएगा गुजरात राज्य से भी बहुत से लोगों को वापस लाया जा रहा है हरियाणा से लगभग 13000 लोगों को लाया गया है| इसके साथ ही दिल्ली से 400000 लोगों को सुरक्षित घर पहुंचाया गया है। सरकार द्वारा विभिन्न राज्यों से लोगों मजदूरों कामगारों छात्रों को घर पहुंचाया जा रहा है।

Migrant helpline number
Migrant helpline number

Migrant helpline number: इस प्रकार विभिन्न जिलों से उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा श्रमिकों कामगारों तथा छात्र छात्राओं को प्रदेश में वापस लाया जा रहा है| इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा यह भी निर्देश दिए गए हैं कि जो भी प्रभाव से व्यक्ति बाहर से आ रहे हैं उनके टेस्ट अनिवार्य रूप से किए जाएं ताकि यदि किसी भी एक व्यक्ति की करुणा वायरस से पुष्टि होती है तो उसे उचित इलाज प्रदान किया जाए। राज्य के बॉर्डर को पूरी तरह से सील किया गया है तथा पूरी निगरानी के साथ ही सरकार द्वारा उचित कदम उठाए जा रहे हैं ताकि कोई भी व्यक्ति बाहर से कोरोनावायरस से संक्रमित ना आने पाए| यदि प्रदेश में ऐसी स्थिति पाई जाती है कि कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्तियों की पुष्टि होती है तो प्रदेश में लगभग 10 लाख लोगों के लिए तत्काल क्वॉरेंटाइन सेंटर होम तथा कम्युनिटी किचन तैयार किए गए हैं| दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों को होम क्वॉरेंटाइन किया जाएगा।

प्रवासी मजदुर :यहाँ क्लिक करे

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर हेल्पलाइन नंबर

उत्तर प्रदेश की जनता के लिए सरकार द्वारा उचित इंतजाम किए जा रहे हैं इसके तहत ही सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं जिसके तहत विभिन्न राज्यों में फंसे कामगार मजदूरों को प्रदेश में आने के लिए यदि किसी प्रकार की कोई भी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो दी गई हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं।

Migrant helpline number

महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश आने वाले मजदूरों के लिए हेल्पलाइन नंबर :-
7007304242 और 9454400177

तेलगाना और आंध्र प्रदेश से उत्तर प्रदेश आने वाले मजदूरों के लिए हेल्पलाइन नंबर :-
9866400721 ,9454402544 और 9454400135

पंजाब और चंडीगढ़ से उत्तर प्रदेश आने के लिए हेल्पलाइन नंबर :-
9455351111 और 9454400190

पश्चिम बंगाल और अंडमान एवं निकोबार से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9639981600 और 9454400537

राजस्थान से उत्तर प्रदेश आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9454410235 और 9454405388

हरियाणा से उत्तर प्रदेश आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9454418828 और 9454418828

बिहार, झारखंड से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
96 2165 0067 और 945 4400122

गुजरात, दमन, दीप, दादर एवं नागर हवेली से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
8 881954573 और 9454400191

उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
8005194092 और 9454400155

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9454410331 और 9454400157

दिल्ली जम्मू एंड कश्मीर लद्दाख से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
89 2082 7174, 7839 854579, 9454400114,7839855711 और 7839854569

उड़ीसा से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9454400133

तमिलनाडु, पांडिचेरी से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9415114075,9454400162

अरुणाचल प्रदेश असम नागालैंड मेघालय मणिपुर त्रिपुरा मिजोरम से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
9454441070 और9454400148

केरल लक्ष्यदीप से आने के लिए हेल्पलाइन नंबर:-
6386725278, 9936619394,9412194347 and 9454400162

Migrant helpline number: भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है टूटा उनसे दूसरे राज्यों में कई प्रवासी मजदूर तीर्थयात्री पर्यटक और छात्र के साथ-साथ अन्य जो प्रदेश सरकार घरों तक पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं|

सभी राज्यों की सरकार के द्वारा एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है जिससे आप बात कर अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं| भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन लोगों की मदद के लिए आगे आया है| उन्होंने यह कहां के हैं कि हाल ही में हमें राजस्थान के छात्रों को घरों तक पहुंचाने में मदद की है और आगे भी ऐसे ही मदद करते रहेंगे यहां पर हम आपको विभिन्न राज्यों से संबंधित हेल्पलाइन नंबर के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध करने जा रहे हैं।

मजदूर टोल फ्री नंबर

ताजा जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा क्यों कहा गया है कि वे सभी लोग जो प्रदेश से बाहर रोजी-रोटी कमाने के लिए जाते हैं उन्हें प्रदेश में ही रोजगार उपलब्ध किया जाएगा| सरकार द्वारा यह भी वादा किया क्या है कि प्रदेश सरकार लगभग 1500000 मजदूर वर्ग के लोगों को रोजगार उपलब्ध करेंगे| जैसा कि हम सभी देखने हैं कि योगी सरकार द्वारा कोरोना वायरस को आगे बढ़ने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है| प्रदेश सरकार द्वारा इस वायरस को रोकने के लिए विभिन्न प्रकार के कदम कुछ ही समय में उठाए गए हैं।

योगी आदित्यनाथ जी द्वारा यह भी कहा गया है कि मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र नाथ मोदी जी का शुक्रिया अदा करता हूं कि समय पर उन्होंने 135 लाख लोगों की रक्षा के लिए यह लॉकडाउन उचित कदम उठाया है। हम सभी को इस वायरस से लड़ने के लिए प्रयास करना होगा मैं स्वयं उन क्षेत्रों की जांच तथा अधिकारियों से बात कर रहा हूं जो कि हर अर्जुन के अंतर्गत आते हैं तथा जहां पर करुणा वायरस से पीड़ित लोग है| इसके अतिरिक्त सभी लोग जो स्वास्थ्य विभाग से जुड़े हुए हैं तथा इन लोगों की देखभाल करें उन्हें भी उचित सहायता देना हमारा फर्ज है और सरकार द्वारा हर संभव प्रयास इन लोगों को सहायता पहुंचाने के लिए किया जा रहा है।

दूसरे राज्य में फंसी लोगों से इस लोग डाउन में योगी आदित्यनाथ जी द्वारा यह अपील की गई है कि वह अधिक भावना होकर सब्र से काम ले और सरकार उन्हें घर तक पहुंचाने के लिए उचित प्रयास कर रहे हैं| अधिकारियों द्वारा यह पता लगाया गया है कि योगी सरकार द्वारा कोरोनावायरस महामारी के मध्य नजर एक टीम का गठन भी किया गया है जो कि विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के कामगारों श्रमिकों को वापस लाने का कार्य करेगी| विभिन्न राज्यों में फंसे इन कामगारों ने अभी तक धैर्य का परिचय दिया है और आगे भी देंगे यह हमें उम्मीद है। सरकार द्वारा संबंधित राज्यों की सरकारों से वार्तालाप किया जा रहा है ताकि सुरक्षित उन्हें प्रदेश में वापस लाया जा सके| उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कहा गया है कि श्रमिकों को घर वापस लाने के लिए सरकार द्वारा संबंधित सभी राज्यों को पत्र लिखकर उनका नाम पता मोबाइल नंबर और मेडिकल रिपोर्ट्स में विस्तृत विवरण मांगा है |

दोस्तों यह जानकारी हमने आपको विभिन्न राज्यों मैं फंसे उत्तर प्रदेश के प्रवासी मजदूरों के लिए दी है। उत्तर प्रदेश के विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों को थोड़ा सा सब्र रखना होगा सरकार द्वारा सभी मजदूरों को प्रदेश में लाने के उचित इंतजाम किए जा रहे हैं। अधिक जानकारी के लिए ऊपर लिखित हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर समस्या का समाधान कर सकते हैं|

1 thought on “प्रवासी मजदूर हेल्पलाइन नंबर [State Wise] Migrant helpline number”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *