कन्या सुमंगला योजना “एप्लीकेशन फॉर्म 2020” उत्तर प्रदेश | ऑनलाइन पंजीकरण

कन्या सुमंगला योजना एप्लीकेशन फॉर्म Registration Online | उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना 2020 में 1200 करोड़ रुपए का बजट | Helpline Number

उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना: उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा एक नई सौगात कन्या सुमंगला योजना कन्याओं के लिए शुरू की गई है|कन्या योजना के तहत गरीब परिवार के लोग जो की कन्याओं का भरण पोषण करने में असमर्थ है इस योजना का लाभ उन परिवारों को मिलेगा| हम जानते हैं कि भारत में लड़कियों की स्थिति कैसी है| दिन-प्रतिदिन लड़कियों की कमी होने के कारण सरकार ने इस योजना को लोगों के लिए शुरू किया है ताकि यदि किसी गरीब तथा आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के परिवार में यदि किसी बेटी का जन्म हो तो उसे दुख ना हो| उसके पढ़ाई और विवाह का खर्च कैसे उठाएं| सरकार द्वारा इसी को मद्देनजर रखते हुए इस योजना कन्या सुमंगला की शुरुआत की है|

कन्या सुमंगला योजना शुरू होने के बाद लोगों को काफी अधिक आर्थिक सहायता मिलेगी| सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना के लिए लगभग 1200 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है| जो कि एक बहुत बड़ी संख्या है| प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में लड़कियों का अनुपात कम होता जा रहा है| यदि देश में लड़कियां ही नहीं होगी तो देश में वृद्धि कैसी होगी और देश आगे कैसे बढ़ेगा| आज हम देखे तो हर क्षेत्र में लड़की एक ऊंचे पद पर और हर क्षेत्र में अपने पांव पसारे हैं| हमें गर्व होना चाहिए कि हमारी बेटियां आज आसमान तक पहुंच गए हैं|

दोस्तों घर में बेटी पैदा होने पर हमें दुख बनाने की आवश्यकता नहीं है| यदि हम आर्थिक रूप से कमजोर है, तो कोई बात नहीं सरकार हमे आर्थिक सहायता प्रदान करेंगे|

सुमंगला योजना ऑनलाइन पंजीकरण

सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा 2019 के बजट में शुरू की गई योजना है| कन्या सुमंगला योजना के माध्यम से लगभग 96 लाख परिवारों को लाभ प्राप्त होगा जो कि एक बहुत बड़ी संख्या है| सरकार द्वारा बहुत से ऐसे परिवारों को उच्च श्रेणी में शामिल किया गया है जिसमें उसके परिवार की बेटी को आर्थिक सहायता प्रदान की जाए| यह आर्थिक सहायता इस योजना के माध्यम से दी जाएगी| इस योजना के माध्यम से ना केवल बेटी के जन्म से लेकर पढ़ाई तक का खर्चा सरकार उठाएगी बल्कि उसके विवाह के लिए भी सरकार द्वारा योजनाएं निर्धारित की गई है जो कि काफी अधिक सहायक है|

कन्या सुमंगला योजना उद्देश्य

  • सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यही है कि प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में भी बेटियों के स्तर को ऊपर उठाया जा सके|
  • सुमंगला योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों को आत्मनिर्भर बनाना है|
  • परिवार में बेटी के जन्म पर दुख नहीं बल्कि खुशी का माहौल हो, यही सरकार का मुख्य उद्देश्य है|
  • आर्थिक रूप से पिछड़े हुए परिवारों को इस योजना के माध्यम से बहुत अधिक लाभ प्राप्त होगा|
  • प्रदेश में लड़कों एवं लड़कियों के अनुपात में काफी अधिक वृद्धि हो रही है| लड़कों की संख्या जहां बढ़ रही है वहीं लड़कियों की संख्या कम होती जा रही है| इसी को मद्देनजर रखते हुए में सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है|

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत कॉलेज ब विद्यालयों के प्राचार्य व प्रधानाचार्य पात्र छात्राओं का विवरण जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध कराएं| यह जानकारी जिला विद्यालय निरीक्षक फूल चंद्र यादव ने दी है, इसके लिए सभी छात्र-छात्राएं आवेदन कर सकती हैं| लाभार्थियों को पैसा पीएफएमएस के जरिए सीधे बैंक खाते में भेजा जाता है| छोटी बच्चियों का पैसा उनके माता-पिता के खाते में डाला जाता है| कन्या सुमंगला योजना सरकार द्वारा शुरू की एक बहुत ही सराहनीय योजना है| देश की बहुत सी कन्याएं इस योजना का लाभ प्राप्त कर रही है|

योजना प्रमुख लाभ

  • कन्या सुमंगला के माध्यम से प्रदेश के लगभग 96 लाख परिवारों को आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी|
  • बेटियां किसी पर निर्भर नहीं रहेंगे और साथ में भ्रुण हत्या में भी कमी आएगी|
  • सरकार द्वारा लगभग 1200 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है|
  • कन्या को जन्म से लेकर उसकी स्नातक की पढ़ाई तक ₹15000 दिए जाए| यह अलग-अलग किशत में बेटी के खाते में डाले जाएंगे|
  • इस योजना के तहत जन्म से उसकी शादी तक छह चरणों में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है|
  • इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश के देश वासियों को काफी अधिक आर्थिक सहायता मिलेगी|
  • इस योजना की शुरुआत होने से कोई भी गरीब परिवार बेटियों को बोझ नहीं समझेगा|
  • प्रदेश में लड़कियों का जीवन स्तर ऊपर उठेगा|
  • इस योजना के शुरू होने से बेटियां उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं|
  • इस योजना के तहत यदि कोई परिवार महीने में 25 हजार रुपए कमाता है, तो वे इस योजना का लाभार्थी है|
  • यदि एक परिवार में दो बेटियां हैं तो उन दोनों बेटियों को ही इस योजना का लाभ मिलेगा यदि 2 से अधिक किसी की बेटियां हैं तो उनमें से केवल दो बेटियों को ही इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा| लेकिन यदि दूसरी संतान के समय यदि किसी महिला को 2 बच्चे जुड़वा हुए हैं तो उन तीनों बेटियों को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा जो कि एक बहुत अच्छी बात है|

उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना

जैसा कि हम जानते हैं कि यूपी सरकार द्वारा बजट को इसी साल 2019 में पेश किया गया और इस बजट की कुल लागत 4 लाख 79 हजार 701 करोड़ 10 लाख रुपए है|इस योजना की शुरुआत भी कथा शुरू करने का फैसला भी इसी के साथ लिया गया है| इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों के भविष्य को उज्जवल करना है और बेटियों के स्तर को देश में ऊपर उठाना है| इसके लिए जल्द ही ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए जा रहे हैं| आप इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं| आवेदन से जुड़ी सारी जानकारी हम आपको यहां पर देंगे, इसके लिए आपको पूरा आर्टिकल पढ़ना है|

जरूरी दस्तावेज

  1. आवेदन कर्ता के पास आवेदन करने के लिए आधार कार्ड का होना अनिवार्य है|
  2. आवेदन कर्ता का उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है|
  3. लड़की के प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है|
  4. कन्या योजना का लाभ उठाने के लिए स्कूल के प्रमाण पत्र का होना अनिवार्य है|
  5. आवेदन कर्ता के पास वोटर कार्ड होना चाहिए|
  6. लाभार्थी लड़की का जन्म प्रमाण पत्र जिसमें उसकी आयु प्रदर्शित हो होना चाहिए|
  7. बेटी के पास उसकी पास कक्षा के प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है|
  8. लड़की का बैंक में खाता होना अनिवार्य है, ताकि समय समय पर कक्षा के अनुसार उसे सरकार द्वारा धनराशि मिलती रहे|

देश में बढ़ रही है भ्रूण हत्या, समान लिंगानुपात को देखते हुए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है| इस योजना के शुरू होने से बालिकाओं को एक अच्छा जीवन मिलेगा उनके जीवन में सुधार होगा साथ ही जीवन में लगने वाले सभी टीकाकरण संपूर्ण होने से उन्हें एक अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त होगा| कन्या सुमंगला योजना के लिए एक वरदान है कन्याओं के स्तर को ऊपर उठाने के लिए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है| दोस्तों यदि आप कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं, तो आप फार्म खंड विकास अधिकारी एसडीएम जिला परिवीक्षा अधिकारी से पोर्टल पर जाकर निशुल्क आवेदन प्राप्त किए जा सकते हैं|

कन्या सुमंगला योजना कन्याओं के भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए शुरू की गई योजना हैं| सरकार ने कन्याओं के भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए कई ऐसी योजनाओं की शुरुआत की है जिससे उन्हें भविष्य में किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े |साथ ही उनके भविष्य में आने वाले गंभीर बीमारियों का वे इस टीकाकरण के माध्यम से सामना कर सके| शिक्षा के लिए भी बेहतर कदम सरकार द्वारा उठाए गए हैं उन्हें शिक्षा प्राप्त करने के लिए किसी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना ना करना पड़े| सरकार द्वारा योजना को शुरू करने का प्रमुख उद्देश्य यही है|

पात्रता

  • कन्या सुमंगला योजना का लाभ लेने के लिए लड़की का उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है|
  • कन्या योजना के तहत यह राशि 18 वर्ष की उम्र के बाद ही लड़की को दी जाएगी|
  • यह राशि उसी स्थिति मैं मिलेगी जब कन्या का विवाह 18 साल से कम उम्र में ना हो|
  • कन्या सुमंगला योजना परिवार की वार्षिक आय 3 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए|
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए घर के माता-पिता का सरकारी कार्यरत नहीं होना चाहिए|
  • इस स्कीम के तहत जो लड़की इस योजना का लाभ उठा रहे हैं उसका उत्तर प्रदेश के ही स्कूल में पढ़ाई करने वाली होनी चाहिए तभी उसे इसका लाभ प्राप्त होगा|
  • योजना के तहत मिलने वाली राशि लड़की के बैंक अकाउंट में डाली जाएगी इसलिए लड़की का बैंक अकाउंट में खाता होना अनिवार्य है|

कन्या सुमंगला योजना के लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं कन्या सुमंगला योजना का प्रमुख उद्देश्य बालिकाओं के स्वास्थ्य एवं शिक्षा की स्थिति को सुदृढ़ करना है। कन्या भ्रूण हत्या को खत्म करना सामान्य लिंगानुपात स्थापित करना बाल विवाह रोकना नवजात कन्या के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करना है प्रदान करना है| स्वास्थ्य विभाग के द्वारा श्रेणी बनो शहीदों के लाभार्थियों के फार्म भरवाए जाने की तैयारी विभाग द्वारा की गई है इस योजना के तहत लाभ लेने वाले लाभार्थी की पहली बच्ची 1 अप्रैल 2018 से पहले तथा दूसरी बच्ची 1 अप्रैल 2019 से पहले जन्म जनवरी होना अनिवार्य है सूचना के मुताबिक ब्लाक के गावों में 200 पंजीकरण का लक्ष्य दिया गया है|

Click here: फ्री सोलर पैनल की रजिस्ट्रेशन प्रारंभ

कन्या सुमंगला योजना के लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं कन्या सुमंगला योजना का प्रमुख उद्देश्य बालिकाओं के स्वास्थ्य एवं शिक्षा की स्थिति को सुदृढ़ करना है। कन्या भ्रूण हत्या को खत्म करना सामान्य लिंगानुपात स्थापित करना बाल विवाह रोकना नवजात कन्या के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करना है प्रदान करना है| स्वास्थ्य विभाग के द्वारा श्रेणी बनो शहीदों के लाभार्थियों के फार्म भरवाए जाने की तैयारी विभाग द्वारा की गई है इस योजना के तहत लाभ लेने वाले लाभार्थी की पहली बच्ची 1 अप्रैल 2018 से पहले तथा दूसरी बच्ची 1 अप्रैल 2019 से पहले जन्म जनवरी होना अनिवार्य है सूचना के मुताबिक ब्लाक के गावों में 200 पंजीकरण का लक्ष्य दिया गया है|

धनराशि का विवरण

कन्या योजना के तहत मिलने वाली राशि विभिन्न भागों में बांटा गया कन्या सुकन्या योजना के तहत बेटी की पढ़ाई और उच्च शिक्षा दिलाने में सहायता प्राप्त होगी |हम सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि को विभिन्न भागों में लाभार्थी परिवार को दिया जाएगा| यह जन्म से लेकर उसके ग्रेजुएशन से लेकर उसकी शादी तक का पूरा खर्चा सरकार द्वारा दिया जाएगा| तो आइए इसका विवरण हम यहां पर जानते हैं|

  1. इस योजना के तहत सरकार ₹3000 बेटी के जन्म के समय दिया जाता है|
  2. आठवीं कक्षा में पहुंचने पर कन्याओं को 5000 धनराशि के रूप में दिए जाते हैं|
  3. कक्षा दसवीं में पहुंचने पर ₹7000 कन्या को उसको आगे की पढ़ाई पूरी करने पर तेज होते हैं|
  4. 12वीं कक्षा में पहुंचने पर ₹8000 कन्या के खाते में डाले जाते हैं
  5. बेटी के 21 साल होने पर उसे ₹2 लाख रुपए दिए जाते हैं |

To take advantage of the girl Sumangla scheme, it is very important for the girl to have Aadhaar card.Girl’s birth certificate should be.The school in which the school is receiving education should have a certificate of study.

NOTE: इस प्रकार से कन्या के जन्म से लेकर शादी की उम्र होने तक राशि सरकार द्वारा दी जाती है ताकि वह अपनी पढ़ाई ही नहीं बल्कि सरकार की मदद से अच्छे घर में उसकी शादी भी हो जाए| लेकिन यह आवश्यक है कि बेटी की शादी 18 साल की उम्र से पहले ना हो यदि किसी कारणवश बेटी की शादी 18 वर्ष से पहले उसके परिवार के लोग कर देते हैं तो जैसा कि हम जानते हैं कि यह दंडवत अपराध है इसकी सजा तो उस परिवार को मिलेगी| लेकिन साथ में यदि उसे इस योजना का लाभ प्राप्त हो रहा है, तो वह भी सरकार की तरफ से बंद कर दिया जाएगा|

ऑनलाइन आवेदन

  1. ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है और यहां पर क्लिक करना है|
  2. अभी यहां पर आपको कन्या सुमंगला योजना पर क्लिक करना है, और आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा|
  3. इस फॉर्म को ध्यानपूर्वक पढ़िए और इसमें दी गई जानकारी को भर दीजिए इसमें आपका नाम, स्थाई पता, आधार कार्ड नंबर, बेटी की आयु अन्य प्रमाण पत्र आदि की जानकारी तथा ब्यौरा मांगा जाएगा|
  4. इसे पढ़ने के पश्चात ध्यानपूर्वक भर दीजिए|
  5. अंत में सबमिट बटन पर क्लिक कर दीजिए अब आप का फॉर्म भर चुका है|
  6. आपने ऑनलाइन कन्या सुमंगला योजना के लिए आवेदन कर दिया है| सरकार की तरफ से आपको आर्थिक सहायता जल्द प्रारंभ हो जाएगी, यदि आप इसके हकदार हैं|

 उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना की जानकारी आपको पसंद आई होगी अगर कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमको लिख सकते हैं हम उसके उत्तर देने की कोशिश करेंगे |हमारी इस वेबसाइट पर Bookmark के निशान को दबा दें और आने वाली सभी नोटिफिकेशन ताकि आपको मिलती रहे और हमारी वेबसाइट www.yojanahelpline.in पर लगातार चेक करते रहें

6 thoughts on “कन्या सुमंगला योजना “एप्लीकेशन फॉर्म 2020” उत्तर प्रदेश | ऑनलाइन पंजीकरण”

  1. Pingback: कन्या सुमंगला योजना हेल्पलाइन नंबर | kanya sumangala yojana Helpline No

  2. Pingback: लाडली लक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश/बिहार {Online Application FOrm}

  3. दीपक कुमार उपाध्याय 09997176455

    सर,
    मेरा आपसे निवेदन है कि मेरे दो पुत्रियाँ है ओर एक पुत्र हैं किया मैं इस योजना कन्या सुमगला का लाभ मुझे कयो नहीं मिल सकता है अगर नहीं तो क्यो

  4. Sir ,
    Kanya sumangal yojna ke kaam mein rukawat ane par complaint krne ke liye koi helpline number h kya please answer me sir🙏

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *